इतनी प्रतियोगिता होने के बावजूद, किसी को भी ब्लॉगिंग क्यों चुनना चाहिए,Blog शुरू करने और Blogger बनने से पहले जाने 10 जरुरी बातें (10 Blogging Tips),hame blogging kyu karna chahiye

blogging कैसे शुरू करे और ब्लॉगिंग शुरू करते समय हमें किन-किन बातों का ध्यान रखना चाहिए? यह ऐसे सवाल है जो की काफ्फी पूछे जाते है .Bhut se logo K a sawal rheta hai blog kaise chalu kare

लेकिन इस सवाल में एक दूसरा सवाल भी छुपा हुआ है जिसके बारे में कोई पूछता ही नहीं है जो की ” क्या मै ब्लॉग्गिंग कर सकता हूँ “.

यह सवाल इसलिए महत्वपूर्ण है kyu ki  किसी भी काम को शुरू करना आसन है , लेकिन उसमे बने रहना काफ्फी मुस्किल है . यह सवाल मैंने खुद से भी पूछे है . चलिए आपको बताता हूँ मैंने कैसे तय किया की ब्लॉग्गिंग करना चाहिए और कैसे सही या यूँ कहे एक Niche तलाशना चाहिए .

ब्लॉग्गिंग कैसे करे

कैसे तय करे की आप Blogging कर सकते है ?  आप मेहनत कीजिये आप का ब्लॉग बहुत आगे जाएगा |

Blogging एक तरीका है जिसमे आप आपके विचारो को लिख कर प्रस्तुत करते है , इस तरीके से आप लोगो की सोच तक पहुंच सकते है , उनकी मदद कर सकते है .

लेकिन अगर आप blogging सिर्फ पैसे कमाने के लिए ही करना चाहते है , तो यकीं मानिए यह आपके लिए नहीं है . इससे अच्छा है की आप अपना कीमती समय कहीं और लगाये .

परन्तु अगर आपको लगता है की आप लोगो की समस्याओ को हल कर सकते है तो फिर आप Blogging करना चुन सकते है .

यदि आपने यह तय कर लिया की आपको ब्लॉगर बनाना ही है तो इन बातो को आपको ध्यान देना होगा 

  1. आपकी थोड़ी रूचि लिखने में होनी चाहिए .
  2. किसी भी काम को पूरा करने की इच्छा शक्ति .
  3. कुछ लोग अपने आप में रहना पसंद करते है , लेकिन अगर आपको लोगों से जुडना पसंद नहीं है , तो फिर इसे सुधारे ले .
  4. अनुशासन किसी भी काम के लिए सबसे महत्वपूर्ण है , Blogging में आपका समय रिसर्च , लिखने और रणनीति बनाने में लगने वाला है . इसलिए तय कर ले प्रतिदिन काम को कितना वक़्त देंगे , कब ब्रेक लेंगे .
  5. आलोचना सहना होगा , साथ ही उससे सीख कर सुधार लाना होगा .
  6. जैसे हमने शुरू में ही कहा था की आप Blogging लोगो की मदद के लिए करेंगे , मान लीजिये आप मोबाइल फ़ोन को लेकर Blogging कर रहे है . तो मोबाइल फ़ोन की बिलकुल सही समीक्षा (Review) कर आप लोगो की मदद करे . इससे लोगो का भरोसा आप के प्रति बढेगा और पैसे भी काम सकते है .

 

क्या ब्लॉग शुरू करने के लिए जुनूनी होना जरुरी है ?

इस लेख में आगे लिखा है की जूनून की तलाश करने की वस्तु नहीं है , इसे आपको विकसित करना होगा .क्यूँकि जूनून को बनाये रखना मुश्किल है यह समय के साथ कम होता रहता है|

कुछ समझ आया अगर नहीं तो चलिए एक उदाहरण से इसे समझते है| Ise aap acche se padhe 

मान लीजिये आप एक कॉलेज स्टूडेंट है और कोडिंग में आपकी रूचि है , लेकिन आपने कभी कोडिंग कर ना कभी कोई सॉफ्टवेर बनाया है और ना कोई वेबसाइट .

अब आपके कॉलेज में एक Tech आयोजन की घोषणा होती है जिसमे 30 Din में सबसे बेस्ट सॉफ्टवेर बना कर प्रेजेंट करने वाले को 1 लाख का इनाम मिलेगा . क्यूंकि आपकी इस विषय में रूचि है यह अवसर आपके दिमाग में घूमता रहेगा .

लेकिन इस घोषणा के बाद आप क्या करेंगे ? क्या आप यह कहेंगे की मैंने कभी ऐसा कुछ नहीं बनाया है , या फिर आप दिन रात एक कर प्रोग्रामिंग लैंग्वेज सीखेंगे और एक सॉफ्टवेर बनायेगे.

मुझे लगता है की आप मेहनत करेंगे , क्यूँकि एक छात्र के लिए इसे बड़ा मौका हो नहीं सकता है .

वापस से अपने प्रमुख मुद्दे पर आते है , आप अब तक इसलिए Blogging नहीं कर रहे थे . क्यूंकि आपकी जिन विषयो में आपकी थोड़ी रूचि है उसमे आपको जूनून की नहीं दिख रहा है ?

या आप उन विषयो में Blogging करते आये है , जिनमे आप काफ्फी जुनूनी है . लेकिन उस विषय संबंधी ब्लॉग में लगातार अच्छे लेख लिखने के बावजूद आप पैसे नहीं कमा पा रहे है . तो क्या आप अब भी उस विषय पर ब्लॉग लिखेंगे जिसमे आप जुनूनी है ?

मुझे नहीं लगता की आप आगे ऐसे किसी ब्लॉग पर लिखना जारी रखने वाले है , जिसमे लगातार इतने मन से लिखने के बाद भी आप कुछ कमा नहीं सकते है .

अब शायद आपको आपके सवाल का जवाब मिल गया होगा की ,क्या ब्लॉग शुरू करने के लिए जुनूनी होना आवश्क है .

हमारी राय यह है की आप उन विषयों पर काम करे जिनमे लोग रूचि लेते हो या जिस समस्या को लेकर वे हल तलाश रहे हो और समय आने पर पैसे भी खर्च कर सके , ऐसे विषयों पर अपना ज्ञान बढ़ाते रहे .

ब्लॉगिंग के लिए लाभदायक विषय कैसे खोजें..?

सही विषय का चुनाव करना इसलिए काफ्फी महत्वपूर्ण है क्यूँकि इससे आपके सफल होने की गुंजाइश बढ़ सकती है . गलत विषय के चुनाव से आप अपना समय , पैसा और इच्छा शक्ति बर्बाद करे लेंगे .

वही विषय ऐसा ना हो जिस पर काफ्फी कड़ी प्रतियोगिता हो और ऐसा भी ना हो जिसमे प्रतियोगिता हो ही ना .

लेकिन यह कैसे पता करे की कौनसा विषय blogging लिए उपयुक्त है . जैसा की हमने पहले इस लेख में कहा ” जिसमे आपकी थोड़ी रूचि हो , लोगो की जिज्ञासा या समस्या को हल करे सके और समय आपने पर लोग बेहतर विकल्पों या उपायों के लिए पैसे खर्च कर सके “.

1 . विषय ऐसा हो जिसे सीखने में आपको भी आनंद आये

2. थोड़ी मार्केट रिसर्च करे

3. जिसमे प्रतिस्पर्धा कम हो उसे चुने

4. सुनिश्चित करें कि विषय लाभदायक हो

5.कोसिस करे की जिस Niche पे आप ब्लॉग चालू करे उसके निचे के बारे में आप को अच्छा जान करी हो 

6.आप ये जरुर कोसिस करे की जिस भी टॉपिक पे आप का ब्लॉग हो उसी के जसे अपना ओडिंस धुंडे

7.आप ये भी बहुत अच्छे से धियान रखे की आप का पोस्ट SEO फ्रेंडली हो जिसे Ranking में आप को जादा प्रोब्लम ना आये 

8.आप कोसिस करे की अपने साईट के नाम पे सोशल साईट पे अपना पेज बनाले जिसे की आप को आप काओडियंस आप को धुंद ले 

9.आप को जादा से जादा 4 पोस्ट लिखने है 1 हफ्ते में  और रेगुलर अपडेट रहेना है 

10.कम से कम आप जब तक 30 पोस्ट ना लिखले तब तक आप को adsence के लिए apply नही करना है|

Leave a Comment